शिरसाळा गाव मे बळीराम गौशाला कि ४० गैया और भैसो कि मौत

तालुका - प्रतिनिधी ( शेखर जिभकाटे )

पवनी : - शिरसाळा गाव मे बळीराम गौशाला कि ४० गैया और भैसो कि मौत हो गई शिरसाळा गाव पवनी तहसील जिल्हा भंडारा मे स्थित हें शिरसाळा गाव की गौशाला पवनी पोलीस स्टेशन से तीन किलोमीटर अंतर पर है गौशाला चलानेवाले का नाम चौसरे हें ये आदमी बहुत दिनो से गौशाला चला रहा हें इस गोशाले में जनावर के लिए कोई डॉक्टर कि सुविधा नहीं होणे के कारण ये गौशालय के जनावरो कि कटाई कि जाती हें ऎसा ग्रामस्थ का कहना हैं।इस घटना के पहले भी गौशाला चलाने वाले को पवनी पोलीस स्टेशन अंतर्गत बडी कारवाई कि गई थी लेकिन ये आरोपी जेल के बाहर निकलने के बाद फिरसे दोबारा उसने वही काम शूरु किया इसीलिए ऎसी गोमाता कि हत्या करने वाले को शासन कि और से बडी से बडी सजा देना चाहिए क्यूकी महाराष्ट्र मे गोमाता को माँ के समान पूजा जाता है ऐसी हालत मे ४० गैया कि मौत हो गई कोई भी डॉक्टर ने इन गैया को देखा नही और ये गौशाला सिरसाळा के जंगल में स्थित हैं ईस गौशाला के गैया को चराई एवं खान पान कि सुविधा न रहते हुये गैया और भैसो कि बुरी हालत हो जाने के कारण मौत हो जाती हें बादमे ५०० गैया कि तादाद में जनावर को कटाई के लिये भेजा जाता हें। ऎसी हालात मे हि जनावरो को ट्रक से रात मे लाया गया और ये सभी गैया को पोस्टमाटम कर पवनी पोलीस स्टेशन के निरीक्षक नरेंद्र निस्वादे और उसकी पोलीस प्रशासन कि और से चौकशी करके आरोपी के उपर बडी कारवाई करने का सिलसिला जारी हें आरोपी को पोलीस स्टेशन की कोठी में डाल दिया गया और बाकी आरोपी कि  जाँच पड़ताल सुरू हो गई हें।

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत:

झिंदाबाद!

राजुरा

[राजुरा][stack]

मूल

[मूल][grids]

चिमूर

[चिमूर][grids]